CoronaVirus: केंद्र सरकार का बड़ा बयान, कहा हवा से भी फैलता है कोरोना वायरस (CoronaVirus)।

CoronaVirus: केंद्र सरकार का बड़ा बयान, कहा हवा से भी फैलता है कोरोना वायरस (CoronaVirus)।

भारत में कोरोना वायरस(CoronaVirus) के कारण उत्पन्न हुई स्थिति से निपटने के लिए बार-बार प्रोटोकॉल और गाइडलाइन में बदलाव किए गए हैं। यह बदलाव कोरोना वायरस(CoronaVirus) में होने वाले म्यूटेशन को मद्देनजर रखकर किए गए हैं। केंद्र सरकार ने बयान देते हुए कहा है कि कोरोना वायरस(CoronaVirus) हवा के जरिए भी फैलता है और इसके लिए भी सरकार द्वारा एक नई गाइडलाइन जारी की गई है।

भारत में कोरोना वायरस(CoronaVirus) संक्रमण की वजह से काफी आतंक मचा हुआ है। लेकिन अब धीरे-धीरे कोरोना वायरस(CoronaVirus) संक्रमण के मामलों में रोजाना कमी देखने को मिल रही है। लेकिन कोरोना वायरस(CoronaVirus) में म्यूटेशन की प्रक्रिया अब भी जारी है। म्यूटेशन की उसी प्रक्रिया को देखते हुए सरकार ने नए गाइडलाइन जारी की है। साथ ही केंद्र सरकार ने बयान दिया है कि कोरोना वायरस(CoronaVirus) हवा के जरिए भी फैलता है।

इस गाइडलाइन में सरकार द्वारा कुछ दवाइयां और जरूरी नियम जोड़े गए हैं जिसका सभी को पालन करना आवश्यक है। इसमें उपचार के लिए इवरमेक्टिन को भी शामिल किया गया है और कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स और रेमेडिसविर और टोसीलिज़ुमैब जैसी अन्य दवाओं के विवेकपूर्ण उपयोग पर जोर दिया गया है।

भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) द्वारा दी गई जानकारी को भी इसमें शामिल किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन(WHO) के मुताबिक Sars-Cov-2 वायरस(CoronaVirus) हवा से पैदा होता है। 

नए प्रोटोकॉल में स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है, "ज़्यादा प्रसार हवा से होता है।" कोरोना वायरस(CoronaVirus) की पहली लहर के समय पूरे विश्व के वैज्ञानिकों ने यह बात सिद्ध की थी कि कोरोना वायरस(CoronaVirus) छोटे बूंदों अथवा ड्रॉपलेट्स के जरिए ही फैलता है। लेकिन अब WHO ने बयान दिया है कि यह हवा के जरिए भी फैल सकता है।

प्रोटोकॉल में बदलाव बीमारी में 'उम्र में बदलाव' को भी दर्शाता है। भले ही सरकार ने कहा है कि बुजुर्ग आबादी अधिक संवेदनशील रहती है फिर भी डॉक्टरों को लगता है कि दूसरी लहर ने बच्चों और युवा आबादी को भी प्रभावित किया है।

 पहली बार, प्रोटोकॉल में बच्चों के मध्यम और गंभीर बीमारी के लक्षणों और प्रबंधन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com