लॉकडाउन में भी केंद्र सरकार के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य जारी, अनिवार्य सेवाओं में शामिल किया गया

NEW DELHI, INDIA - 2021/01/09: Labour workers seen near the construction site for part of the Central Vista Redevelopment Project at New Parliament House, New Delhi.The project envisages the creation of a new Parliament complex, a building for the Union Ministries, a new enclave for the Vice President, a new office and the Prime Minister's residence, among others. (Photo by Manish Rajput/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)
NEW DELHI, INDIA - 2021/01/09: Labour workers seen near the construction site for part of the Central Vista Redevelopment Project at New Parliament House, New Delhi.The project envisages the creation of a new Parliament complex, a building for the Union Ministries, a new enclave for the Vice President, a new office and the Prime Minister's residence, among others. (Photo by Manish Rajput/SOPA Images/LightRocket via Getty Images)

 केंद्रीय लोक विकास निगम ने दिल्ली पुलिस को पत्र लिख कर वाहनों के चलने की अनुमति मांगी

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। नतीजतन, देश की स्वास्थ्य व्यवस्था एकदम चरमरा गई है। वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का कार्य जोरों शोरों पर हैं। दिल्ली में जहां एक हफ्ते में 2000 से अधिक लोगों की संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है, वहीं सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य बिना किसी रोक टोक के जारी है। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट सेंट्रल विस्टा के निर्माण कार्य को अनिवार्य सेवाओं में शामिल कर दिया गया है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की, सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के अंतर्गत एक नए तिकोने आकार के संसद भवन और केंद्रीय सचिवालय का निर्माण और साथ ही राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक 3 किलोमीटर लंबे राजपथ का पुनरुद्धार शामिल है। इस महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट की शुरुआत, 26 जनवरी 2021 को हुई थी। इसके निर्माण का जिम्मा केंद्रीय लोक विकास निगम को सौंपा गया है। इस प्रोजेक्ट की कीमत, 2000 करोड़ बताई जा रही है। 

गौरतलब है, कि दिल्ली में पिछले हफ्ते लॉकडाउन की घोषणा हुई थी। इस दौरान इस प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य जारी रहा। साथ ही, अब इसे अनिवार्य सेवा की श्रेणी दे दी गई है। गुजरे 16 अप्रैल 2021 को केंद्रीय लोक विकास निगम ने दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर कहा था ' इस प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य 30 नवंबर 2021 तक पूरा होना है। इसी कारण, कंपनी को तीनों शिफ्ट में कार्य करने की अनुमति दी गई है।' साथ ही उन्होंने पुलिस से सराय काले खां में मजदूर कैंप में ठहरे मजदूरों को लाने और ले जाने की भी अनुमति भी मांगी थी। 

19 अप्रैल को जब दिल्ली में लॉकडाउन लगाया गया, तब दिल्ली पुलिस के कमिश्नर ने इस निर्माण कार्य में लगे 180 वाहनों को पास जारी कर चलने की अनुमति प्रदान की है। 

बदिल्ली में रोजाना एक तिहाई से अधिक लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं। वहीं मरने वालों की संख्या रोजाना 300 का आंकड़ा छू रही है।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com