जानिए AIIMS के डायरेक्टर, रणदीप गुलेरिया ने कोरोना की दूसरी लहर के कारण क्या बताये

NEW DELHI, INDIA  MAY 07: Medical Doctor, Randeep Guleria briefs media in New Delhi. (Photo by Qamar Sibtain/India Today Group/Getty Images)
NEW DELHI, INDIA MAY 07: Medical Doctor, Randeep Guleria briefs media in New Delhi. (Photo by Qamar Sibtain/India Today Group/Getty Images)

ANI न्यूज़ से बात करते हुए रणदीप गुलेरिया ने कोरोना के बढ़ते मामलों के 2 मुख्य कारण बताए। 

भारत में कोरोना संक्रमण के मामले दिन प्रतिदिन नए रिकॉर्ड बना रहे हैं। शनिवार को AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना के तेज़ी से बढ़ रहे संक्रमण के 2 मुख्य कारण बताए। उनका मानना है कि, जनवरी-फरवरी में वैक्सीन आ गयी और कोरोना के मामले कम होने लगे थे, लेकिन इसके बाद लोगों ने कोरोना के प्रति लापरवाही बरतनी शुरू कर दी, और प्रोटोकॉल का पालन बंद कर दिया। इसके अलावा, उनका मानना है की, इस दौरान आयोजित धार्मिक समारोह और चुनाव भी कोरोना के प्रसार का एक बड़ा कारण बने। 

वैक्सीन के प्रभाव पर चल रही बहस पर भी टिप्पड़ी करते हुए उन्होंने कहा की "हमें याद रखना चाहिए कि कोई भी वैक्सीन 100 प्रतिशत प्रभावी नहीं हो सकती। वैक्सीन लेने के बाद वायरस हमारे शरीर मे यदि घुस भी जाता तो एन्टी बॉडीज के कारण वह अधिक असर नहीं कर पायेगा।"

डॉ गुलेरिया का कहना है की कोरोना के बढ़ते हुए मामलों से स्वास्थ्य सेवाओं के ऊपर बहुत अधिक दबाव है। हमें अपने अस्पतालों में बेड्स की संख्या बढ़ाते रहने की ज़रूरत है। इसके साथ ही अन्य स्वास्थ्य संसाधनों की संख्या में भी इजाफा करने की आवश्यकता है।

दिल्ली में आई कोरोना मामलों में बढ़ोतरी पर भी डॉ गुलेरिया ने बात की। उन्होंने कहा "दिल्ली में पिछले 6, 7 महीनों के मुकाबले अब बहुत ज़्यादा मामले सामने आ रहे हैं। इसके रोकथाम और स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धि के लिए हमने जो पहली लहर के दौरान किया उसे दोहराने की ज़रूरत है।"

गौरतलब है, की भारत कोरोना की अब तक की सबसे भयंकर लहर से जूझ रहा है। शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ो के अनुसार भारत मे कुल 2.34 लाख से ज़्यादा नए संक्रमण के मामले दर्ज किए गए हैं।

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com