Covid-19 Updates: पिछले 24 घंटे में आए 30,941 मामले, छह दिन बाद 40 हज़ार से कम दिखा आंकड़ा

Covid-19 Updates: पिछले 24 घंटे में आए 30,941 मामले, छह दिन बाद 40 हज़ार से कम दिखा आंकड़ा

भारत में पिछले कुछ दिनों से Covid-19 के नए मामलों में लगातार बढ़त देखे जाने के बाद आज मामले कुछ कम नज़र आए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताज़ा आंकड़ों में गिरावट दर्ज की गई है. वहीं साप्ताहिक व दैनिक सकारात्मकता दर में भी वृद्धि हुई, जो राहत की खबर है. कुछ राज्यों में अब भी जहां संक्रमण के नए मामलों में गिरावट नहीं आ रही, वहीं कुछ राज्यों में स्थिति अब अच्छी दिखाई दे रही है.

मंगलवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताज़ा आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में देश में Covid-19 के कुल 30,941 नए मामले सामने आए. कल के मामलों की तुलना में आज के संक्रमण के मामलों में 28 फीसदी कमी देखी गई. भारत में अब कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या 3,70,640 है. साथ ही स्वास्थ्य दर भी 97.53 फीसदी पर पहुंच गई है. पिछले 24 घंटे में जहां देश में कुल 350 लोगों ने इस बीमारी से अपनी जान गंवाई. वहीं 36,275 लोगों ने इस बीमारी से अपनी जंग जीती, जिससे कोरोना से ठीक होने वाले मरीज़ों की कुल संख्या अब 3,19,59,680 हो गई है.

गौरतलब है कि, Covid-19 के ताज़ा आंकड़ों के अनुसार साप्ताहिक सकारात्मकता दर 2.51 फीसदी है, जो पिछले 67 दिनों से 3 फीसदी से नीचे है. वहीं पिछले 24 घंटे की दैनिक सकारात्मकता दर 2.22 फीसदी दर्ज की गई. देश में चल रहे टीकाकरण अभियान की बात करें, तो अब तक देश में 64 करोड़ से ज़्यादा लोगों को टीकों की खुराके दी जा चुकी हैं. जिसमें से 59,62,286 टीके पिछले 24 घंटे में लगे हैं. हालांकि देश में रोज़ आने वाले संक्रमण के नए आंकड़ों में केरल का योगदान अब भी कम होने का नाम नहीं ले रहा. दैनिक संक्रमण के आधे से ज़्यादा सक्रिय मामले केरल से आ रहे हैं, जो काफ़ी चिंताजनक हैं.

उल्लेखनीय है कि, सोमवार को ICMR के महामारी विज्ञान एवं संचारी रोग प्रमुख Dr. Samiran Panda ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, जिन राज्यों में Covid-19 की दुसरी लहर का कहर कम था, वहां अब संक्रमण के मामले बढ़ते नज़र आते हैं. यह उन राज्यों के लिए चिंताजनक है, क्योंकि यह उन राज्यों के लिए महामारी की तीसरी लहर की दस्तक हो सकती है. सभी राज्यों को इसके लिए तैयार रहना चाहिए.

Related Stories

No stories found.
हिंदुस्तान रीड्स
www.hindustanreads.com